दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में वार्षिकोत्सव के दौरान छात्राओं से छेड़छाड़ और अभद्रता का मामला तूल पकड़ रहा है. सोशल मीडिया पर इसकी चर्चा के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने इसका संज्ञान लिया है. वहीं, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल इस मामले को लेकर गार्गी कॉलेज पहुंची.

बीती छह फरवरी को दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में वार्षिकोत्सव हो रहा था. तभी बाहरी लोगों की भीड़ कॉलेज का गेट तोड़कर भीतर घुस गई और छात्राओं से छेड़छाड़ की. चार दिन पहले हुई इस घटना की चर्चा सोशल मीडिया में होती रही. लेकिन, सोमवार को छात्राओं के प्रदर्शन के बाद इस मसले से जुड़ी खबरें सामने आईं. दिल्ली पुलिस ने पहले इस मामले को लेकर कहा था कि उसके पास इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई है. लेकिन, मामले के तूल पकड़ने के बाद दिल्ली पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज की जांच शुरु कर दी है.

गार्गी कॉलेज मामले के तूल पकड़ने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बारे में ट्वीट करते हुए दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है. इसके अलावा यह मुद्दा लोकसभा में भी गूंजा. असम से कांग्रेस के सांसद गौरव गोगोई ने मानव संसाधन विकास मंत्री से इस बारे में सवाल पूछा.