दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए पड़े वोटों की गिनती जारी है. अभी तक आए रूझानों के मुताबिक आप एक बार फिर दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने जा रही है. पार्टी 58 सीटों पर आगे चल रही है. उसके मुताबिक यह उसके काम की जीत है. पार्टी प्रवक्ता पृथ्वी रेड्डी ने कहा कि आप ने राष्ट्रवाद का एक नया मॉडल दिया है जिसकी बुनियाद है जनता की सेवा.

उधर, राज्य की सत्ता से 22 साल के वनवास के बाद वापसी की उम्मीद कर रही भाजपा को झटका लगा है. वह सिर्फ 12 सीटों पर आगे है. दिल्ली भाजपा के मुखिया मनोज तिवारी ने कहा है कि जो भी नतीजा आता है, उसके लिए वे जिम्मेदार हैं.

उधर, कांग्रेस को पिछली बार की तरह एक भी सीट मिलती नहीं दिख रही. पार्टी ने इन नतीजों पर निराशा जताई है. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि शीला दीक्षित की मौत के बाद उनके विकल्प के तौर पर पार्टी दिल्ली में कोई दूसरा नेता खड़ा नहीं कर सकी.

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने इन नतीजों पर खुशी जताई है. बीते दिनों खबरें आई थीं कि उन्होंने विधानसभा चुनावों के लिए आप से हाथ मिलाया है. प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया, ‘भारत की आत्मा की रक्षा के लिए खड़ा होने के लिए शुक्रिया दिल्ली.’