‘हनुमान जी का भी बहुत-बहुत शुक्रिया.’

— अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

अरविंद केजरीवाल ने यह बात दिल्ली में एक बार फिर अपनी पार्टी की प्रचंड जीत पर कही. उनका यह भी कहना था कि इस चुनाव में दिल्ली के लोगों ने एक नई किस्म की राजनीति शुरू की है और वह है काम की राजनीति. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब जो बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दे पर काम करेगा उसे ही वोट मिलेंगे.

‘भाजपा इस जनादेश को स्वीकारते हुए रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएगी.

— जेपी नड्डा, भाजपा अध्यक्ष

जेपी नड्डा ने यह बयान दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार पर दिया. उन्होंने आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल का बधाई भी दी. जेपी नड्डा ने उम्मीद जताई कि आप दिल्ली का विकास करेगी. दिल्ली विधानसभा चुनाव में सत्ता में वापसी की उम्मीद कर रही भाजपा सात सीटों पर सिमटती दिख रही है.


‘दिल्ली की जनता का जनादेश सिर माथे पे. अरविंद केजरीवाल जी को बहुत बहुत बधाई.’ 

— मनोज तिवारी, दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष

मनोज तिवारी की यह प्रतिक्रिया भी चुनाव नतीजों के बाद आई. उन्होंने जनता के साथ-साथ पार्टी कार्यकर्ताओं को भी शुक्रिया कहा.


‘हमारे वोट प्रतिशत में गिरावट का कारण भाजपा और आम आदमी पार्टी, दोनों के द्वारा ध्रुवीकरण की राजनीति है.’  

— सुभाष चोपड़ा, दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष

सुभाष चोपड़ा ने यह बात दिल्ली चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन पर कही. कांग्रेस पिछली बार की तरह इस बार भी एक भी सीट नहीं जीत सकी. सुभाष चोपड़ा ने कहा कि वे पार्टी के प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हैं. उनका यह भी कहना था कि इसके पीछे के कारणों की समीक्षा होगी.