दिल्ली विधानसभा चुनाव में एक बार फिर बाजी आम आदमी पार्टी के हाथ लगी है. अभी तक आए नतीजों और रूझानों पर जाएं तो 70 में से 63 सीटें आप की झोली में जाती दिख रही हैं. उसके सभी मंत्री अपनी सीटें जीतते दिख रहे हैं. तमाम दावों के बावजूद भाजपा सात सीटों पर सिमटती नजर आ रही है तो कांग्रेस के खाते में फिर शून्य पक्का हो गया है.

इन नतीजों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली के लोगों ने एक नई किस्म की राजनीति की शुरुआत कर दी है. उनका आगे कहना था कि दिल्ली में काम करने वाली नई राजनीति ने जन्म लिया है. उन्होंने ईश्वर को भी शुक्रिया कहा. अरविंद केजरीवाल का कहना था, ‘आज मंगलवार भी है, तो हनुमान जी का भी बहुत-बहुत शुक्रिया. उन्होंने दिल्ली पर अपनी कृपा बरसाई है. अगले पांच साल भी वे हमें शक्ति दें कि अगले पांच साल हम दिल्लीवासियों की सेवा करें.’

दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए आठ फरवरी को वोटिंग हुई थी. पिछले चुनाव में आम आदमी पार्टी ने असाधारण जीत हासिल करते हुए 67 सीटें जीती थीं. विपक्षी भाजपा तीन सीटों पर सिमट गई थी जबकि 15 साल दिल्ली की सत्ता में रही कांग्रेस का आंकड़ा शून्य था. इस बार भाजपा को 22 साल बाद दिल्ली की सत्ता में वापसी की उम्मीद थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने उसकी तरफ से प्रचार किया था. लेकिन नतीजे उसकी उम्मीदों के उलट रहे.