दिल्ली विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद कांग्रेस के भीतर मची उथल-पुथल आज कई अखबारों के पहले पन्ने पर है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने इस्तीफा दे दिया है तो चुनाव में पार्टी नेतृत्व की सुस्ती पर भी सवाल उठ रहे हैं. दिल्ली महिला कांग्रेस की मुखिया शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कल पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से सवाल किया कि क्या भाजपा को हराने का ठेका पार्टी ने आप जैसे क्षेत्रीय दलों को दे दिया है. उधर, पार्टी के ही एक और वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस का पतन पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के समय से शुरू हुआ. उनके इस बयान पर दूसरे नेताओं ने एतराज जताया तो उन्होंने इस्तीफे की पेशकश कर दी. इसके अलावा मुंबई हमले के मास्टमाइंड हाफिज सईद को टेरर फंडिंग के आरोप में 11 साल जेल की सजा की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खी में शामिल है.

तीन करोड़ से ज्यादा भारतीय विदेश गए, लेकिन सिर्फ डेढ़ करोड़ टैक्स देते हैं : नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर प्रणाली को नागरिक केंद्रित बनाए जाने की बात कही है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उन्होंने कहा है कि देश में बहुत सारे लोगों द्वारा कर नहीं देने का भार ईमानदार करदाताओं पर पड़ता है. नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘पिछले पांच साल में देश में 1.5 करोड़ से ज्यादा कारों की ब्रिकी हुई है. तीन करोड़ से ज्यादा भारतीय कारोबार के काम से या घूमने के लिए विदेश गए हैं, लेकिन स्थिति ये है कि 130 करोड़ से ज्यादा के हमारे देश में सिर्फ 1.5 करोड़ लोग ही आयकर देते हैं.’ प्रधानमंत्री ने आग्रह किया कि लोग देश के लिए अपना जीवन समर्पित करने वालों को याद करते हुए इस बारे में संकल्प लें और प्रण लें कि ईमानदारी से जो टैक्स बनता है, वह देंगे.

जेपी समूह के एसडीजेड का आवंटन निरस्त

यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी ने एक हजार करोड़ रुपये के बकाए का भुगतान न करने पर जेपी इंटरनेशनल स्पोर्ट्स एसडीजेड (स्पेशल डेवलपमेंट जोन) का आवंटन निरस्त कर दिया. दैनिक जागरण के मुताबिक नवंबर में हुई अथॉरिटी की बोर्ड बैठक में सीईओ को इस बारे में फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया था. एसडीजेड का आवंटन निरस्त होने से बुद्ध अंतरराष्ट्रीय सर्किट फॉर्मूला वन और क्रिकेट स्टेडियम संकट में आ गया है. अब इस संपत्ति पर प्राधिकरण का हक हो गया है. निरस्त एसडीजेड की बाजार दर से कीमत बीस हजार करोड़ रुपये आंकी जा रही है.

गार्गी कॉलेज की छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में 10 गिरफ्तार

दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में ‘फेस्ट’ के दौरान छात्राओं के साथ हुई छेड़खानी के मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हिंदुस्तान के मुताबिक मामले की जांच करने और संदिग्धों की पहचान करने के लिए पुलिस की 11 से ज्यादा टीमें बनाई गई हैं. सीसीटीवी फुटेज की जांच के साथ-साथ छात्राओं के बयान भी लिए गए हैं. गार्गी कॉलेज में छह फरवरी को आयोजित ‘रेविएरा’ फेस्ट में पुरुषों का एक समूह घुस आया और छात्राओं के साथ बदसलूकी की. पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में 10 फरवरी को एफआईआर दर्ज की थी. गिरफ्तार आरोपितों में से कुछ डीयू और दिल्ली एनसीआर की प्राइवेट यूनिवर्सिटीज के छात्र भी हैं.