जम्मू-कश्मीर की अलग-अलग पंचायतों में खाली पड़े पदों के लिए पांच मार्च से 20 मार्च तक चुनाव कराए जाएंगे. अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने के बाद पहली बार पंचायत चुनाव हो रहे हैं. इन चुनावों में बैलेट बॉक्स का इस्तेमाल किया जाएगा. यह जानकारी जम्मू-कश्मीर के मुख्य चुनाव अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने दी.

जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव को आठ चरणों में संपन्न कराया जाएगा. शैलेंद्र कुमार ने कहा कि जहां-जहां चुनाव होने हैं, वहां आज से आचार संहिता लागू हो गई है. पिछले साल अगस्त में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था.