अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिया है कि उनकी भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कोई व्यापार समझौता नहीं होगा. यह खबर आज कई अखबारों के पहले पन्ने पर है. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत ने उनके देश के साथ बहुत अच्छा व्यवहार नहीं किया. अमेरिकी राष्ट्रपति 24 फरवरी को भारत पहुंच रहे हैं. उनका दौरा दो दिन का होगा. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त मध्यस्थों के दिल्ली के शाहीन बाग पहुंचने की खबर को भी अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है. इन मध्यस्थों ने यहां सीएए के विरोध में दो महीने से प्रदर्शन कर रहे लोगों से मुलाकात की. सुप्रीम कोर्ट ने इन्हें इस धरने-प्रदर्शन को कहीं और शिफ्ट करने के लिए प्रदर्शनकारियों को मनाने का जिम्मा सौंपा है.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना स्वैच्छिक हुई

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की खामियों को दूर कर उसमें कई महत्वपूर्ण संशोधन किए गए हैं. दैनिक जागरण के मुताबिक इस दिशा में सबसे अहम कदम इस योजना को पूरी तरह स्वैच्छिक बनाना है. अब ऋणी किसानों पर फसल बीमा लेने की अनिवार्यता समाप्त हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कराने वाले किसानों से बैंक बीमा की राशि में से पहले ऋण की राशि काट लेते थे, लेकिन योजना को स्वैच्छिक बनाये जाने से वे ऐसा नहीं कर पायेंगे. किसानों के लिए सुरक्षा कवच के रूप में तीन साल पहले शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कुल खेती की 30 फीसद भूमि पर लागू हो चुकी है.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक

कल दिल्ली में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक हुई. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इसमें मंदिर के स्वरूप को लेकर फैसला किए जाने के साथ ही 15 सदस्यीय ट्रस्ट के शेष तीन सदस्यों का चयन किया गया. सभी सदस्यों में दायित्वों का बंटवारा भी किया गया. राम जन्मभूमि न्यास के मुखिया महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट के अध्यक्ष-प्रबंधक का दायित्व सौंपा गया है. उधर, वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय को महासचिव पद की जिम्मेदारी दी गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी और उनके प्रधान सचिव रहे नृपेंद्र मिश्र को मंदिर निर्माण के लिए बनाई गई समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया है.

एक अप्रैल से यूरो 6 पेट्रोल-डीजल

भारत सबसे स्वच्छ पेट्रोल-डीजल को अपनाने के लिए तैयार है. हिंदुस्तान के मुताबिक पेट्रोल पंपों पर एक अप्रैल से यूरो-6 ग्रेड का पेट्रोल तथा डीजल मिलना शुरू हो जाएगा. यूरो-6 ग्रेड ईंधन को दुनिया का सबसे स्वच्छ ईंधन माना जाता है. देशभर की रिफाइनरियों में इसका उत्पादन शुरू हो चुका है. इन ईंधनों को पेट्रोल पंप पर पहुंचाने का भी काम शुरू हो गया है. सरकार ने एक अप्रैल, 2020 से यूरो-6 उत्सर्जन मानदंड लागू करने का फैसला किया था. भारत ने यह मुकाम महज तीन साल में हासिल कर लिया है, जबकि दुनिया के बड़े-बड़े देश अभी तक ऐसा नहीं कर पाए हैं.