चीन ने गृहमंत्री अमित शाह के अरुणाचल प्रदेश दौरे का कड़ा विरोध किया है. उसका कहना है कि यह उसकी क्षेत्रीय संप्रभुता का उल्लंघन है. अमित शाह अरुणाचल प्रदेश के 34वें स्थापना दिवस पर वहां पहुंचे थे. चीन का कहना है कि भारत को कोई ऐसा कदम नहीं उठाना चाहिए जो सीमा से जुड़े मुद्दे को और जटिल बनाए.

चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा मानता है. वह भारतीय राजनेताओं के यहां आने का विरोध पहले भी करता रहा है. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, ‘इस मामले में चीन का रुख हमेशा से साफ रहा है.’ उनका आगे कहना था, ‘सीमाई इलाके में शांति बनी रहे, इसके लिए भारत को ठोस कदम उठाने चाहिए.’

भारत और चीन के बीच साढ़े तीन हजार करोड़ लंबी सीमा है. सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों के बीच 22 दौर की बातचीत हो चुकी है.