बेंगलुरू में सीएए और एनआरसी के खिलाफ ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की रैली में गुरुवार को हंगामा हो गया. ऐसा तब हुआ जब एक महिला ने मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिया. असदुद्दीन ओवैसी समेत मंच पर मौजूद लोगों ने उसे रोकने की कोशिश की. इसके बावजूद महिला नारेबाजी करती रही. अमूल्या नाम की इस महिला को अब गिरफ्तार कर लिया गया है. चिकमंगलूर की रहने वाली इस महिला पर राजद्रोह का आरोप लगाया गया है. फिलहाल उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इस घटना के बाद उसके घर पर पथराव की भी खबर है.

असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना की निंदा की है. उन्होंने कहा कि आयोजकों को इस महिला को नहीं बुलाना चाहिए था और उन्हें यह बात पता होती तो वे इस रैली में नहीं आते. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘हमारे लिए भारत जिंदाबाद था, जिंदाबाद रहेगा.’ उनका यह भी कहना था कि यह पूरी मुहिम भारत को बचाने के लिए है.

इससे पहले एआईएमआईएम नेता वारिस पठान ने कलबुर्गी में विवादित बयान दिया था. सीएए के खिलाफ एक रैली में उन्होंने कहा था कि देश के 15 करोड़ मुसलमान 100 करोड़ हिंदुओं पर भारी पड़ेंगे. हालांकि विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने इस तरह का बयान देने से ही इनकार कर दिया था.

भाजपा ने इस घटना के तुरंत बाद प्रतिक्रिया दी. पार्टी नेता बीएल संतोष ने ट्वीट किया, ‘एंटी-सीएए प्रोटेस्ट कहे जाने वाले पागलपन को देखिए. बेंगलुरु में एक लेफ्ट ऐक्टिविस्ट पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगा रही है. असामाजिक तत्वों ने विरोध प्रदर्शन कब्जा लिए हैं. अब यह कहने का वक़्त आ गया है कि बहुत हो गया.’