उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में सोने का विशाल भंडार दबा है. खबरों के मुताबिक भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग ने यह बात कही है. उसके मुताबिक जिले के सोनपहाड़ी और हर्दी इलाके में करीब 3350 टन स्वर्ण भंडार होने का अनुमान है. सरकार अब इस इलाके को खनन के लिए लीज पर देने की योजना बना रही है. प्रशासन ने ई-टेंडरिंग के लिए सात सदस्यों की एक टीम भी बनाई है.

इस खोज का महत्व इससे समझा जा सकता है कि मौजूदा समय में भारत के पास लगभग 626 टन सोने का भंडार है. सोनभद्र में जितना सोना दबा है उसकी कीमत 12 लाख करोड़ रुपये के करीब बैठती है. माना जा रहा है कि इस खोज के बाद सोने के भंडार को लेकर भारत दुनिया के शीर्ष तीन देशों में शामिल हो सकता है.

दुनिया में सोने का सबसे बड़ा भंडार अमेरिका के पास है. उसके पास 8,133 टन सोना है जो उसके कुल विदेशी मुद्रा भंडार का 76.9 फीसदी है. दूसरे स्थान पर जर्मनी है जिसके बाद 3366.8 टन सोना है. इसके बाद 2451.8 टन के आंकड़े के साथ इटली का नंबर है.

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के मुताबिक भारत समेत दुनिया भर के केंद्रीय बैंक सोने की खरीदारी में बढ़ोतरी कर रहे हैं. साल 2010 से लेकर 2019 से दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों ने करीब 5019 टन सोना खरीदा. यानी हर साल औसतन 500 टन. इससे पहले दशक में सालाना औसतन 443 टन सोने की खरीदारी हुई थी.