महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्‍ली में मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीएए, एनपीआर और एनआरसी के मुद्दे पर विस्तृत चर्चा हुई.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आशवस्त किया है कि वह पूरे देश में एनआरसी लागू नहीं करेंगे. सीएए का समर्थन करते हुए करते हुए उनका कहना था, ‘हमनें यह समझ लिया है कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर की भूमिका क्या है. सीएए को लेकर किसी को डरने की जरूरत नहीं है. जो लोग इसके खिलाफ लोगों को भड़का रहे हैं, उन्हें समझने की जरूरत है.’

एनआरपी और एनआरसी पर चर्चा करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एनपीआर का संबंध जनसंख्या से है और जनसंख्या की गणना हर 10 साल में होती है...ऐसा कहा जा रहा है कि एनआरसी मुसलमानों के लिए खतरा है, इसके जरिए देश से मुसलमानों को बाहर निकाला जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं है, अगर कोई विवाद होता है तो देखेंगे कि क्या करना है.’

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह भी बताया कि पीएम मोदी से जीएसटी की राशि को लेकर भी चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि जीएसटी की राशि राज्यों को जिस तेजी से मिलनी चाहिए, वह नहीं मिल रही है. इस विषय पर विमर्श हुआ. इसके अलावा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का पैसा किसानों को नहीं मिलने की बात भी प्रधानमंत्री से हुई.