उत्तर पश्चिमी दिल्‍ली के जाफराबाद इलाके में पथराव की खबर है जहां नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन चल रहा है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक यहां की मौजपुर रेड लाइट के पास दो पक्षों में पथराव हुआ है. बताया जा रहा है कि जाफराबाद से सटे मौजपुर में सीएए के खिलाफ शनिवार से प्रदर्शन चल रहा था. रविवार को भाजपा नेता नेता कपिल मिश्रा अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए जिसके बाद सीएए समर्थकों और विरोधियों के बीच हंगामा शुरू हो गया. न्‍यूज एजेंसी के अनुसार उपद्रव को शांत करने के लिए पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले भी दागे.

एनडीटीवी के मुताबिक संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ शनिवार रात हुआ प्रदर्शन रविवार को भी जारी रहा. इस वजह से दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए. इस प्रदर्शन में करीब 500 लोग पहुंचे, जिनमें अधिकतर महिलाएं थीं.

खबरों के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान सीलमपुर को मौजपुर तथा यमुना विहार से जोड़ने वाली सड़क जाम कर दी गई. महिलाओं के हाथ में तिरंगा था और वे ‘आजादी’ के नारे लगा रही थीं. इनका कहना था कि वे तब तक नहीं हटेंगी जब तक केंद्र सरकार सीएए को वापस नहीं ले लेती. स्थिति को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी थी.