दुनिया की चिंताएं बढ़ाते हुए कोरोना वायरस का प्रकोप अब चीन के बाहर भी तेजी से बढ़ रहा है. दक्षिण कोरिया में अब तक इससे सात मौतों की खबर है जबकि 700 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं. ज्यादा चिंता की बात यह है कि पिछले चार दिनों में दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में आठ गुना बढ़ोतरी देखी गई है. हालात को देखते हुए देश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है.

उधर, ईरान में भी कोरोना वायरस से आठ लोगों की मौत हो गई है. यहां 28 लोग इस वायरस की चपेट में हैं. हालात को देखते हुए देश के कई प्रांतों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं. ईरान में हैंड सैनिटाइजर और मास्क की मांग जबर्दस्त तरीके से बढ़ गई है जिसके चलते कई जगहों पर इनकी किल्लत हो गई है.

दूसरी तरफ, रविवार को 150 और लोगों की मौत के साथ चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 2592 हो गई है. 70 हजार से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इसे देश के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी स्वास्थ्य आपदा करार दिया है. उनके मुताबिक इस आपदा ने चीन की अर्थव्यवस्था को भी काफी चोट पहुंचाई है.

इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक टीम भी चीन पहुंची हुई है. टीम के विशेषज्ञ इस वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर के अस्पतालों का दौरा भी कर रहे हैं. कोरोना वायरस का फिलहाल अलग से न कोई इलाज है और न ही इससे बचाव का कोई टीका है. अभी डॉक्टर लक्षणों के आधार पर ही मरीजों का इलाज कर रहे हैं.