1-दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में नए नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में पांच लोगों की मौत के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार रात एक आपात बैठक की. इसमें केंद्रीय गृह सचिव एके भल्ला, दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक मौजूद थे. अमित शाह ने इन सभी से कहा कि वे हिंसा प्रभावित इलाकों में जल्द से जल्द सामान्य हालात की बहाली सुनिश्चित करें.

2-गृह मंत्रालय ने इस हिंसा की टाइमिंग पर भी सवाल उठाए हैं. गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी का कहना है कि ऐसे समय में जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर हैं, यह हिंसा देश की छवि खराब करने की साजिश है. उन्होंने यह भी कहा कि शांतिपूर्ण विरोध नागरिकों का अधिकार है, लेकिन हिंसा से सख्ती से निपटा जाएगा.

3-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों और अधिकारियों की एक आपात बैठक बुलाई है. उन्होंने कहा कि वे मौजूदा हालात से बेहद चिंतित हैं. अरविंद केजरीवाल का यह भी कहना था कि शांति बहाल करने के लिए सबको मिलकर कोशिश करनी होगी. उन्होंने कहा कि हिंसा से कोई समाधान नहीं निकल सकता.

4-दिल्ली के मौजपुर इलाके में तीन दमकलकर्मियों के घायल होने की भी खबर है. ये लोग आगजनी की एक घटना के बारे में सूचना मिलने पर आग बुझाने के लिए पहुंचे थे. इसी दौरान उपद्रवियों ने उन पर पथराव किया और फिर उनकी गाड़ी को आग लगा दी. मौजपुर में ही ई रिक्शॉ पर जा रही कुछ सवारियों के साथ पहले मारपीट की गई और फिर उनका सामान लूट लिया गया. गोकुलपुरी इलाके में एक टायर मार्केट को फूंक दिया गया.

5-सरकार ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सभी स्कूलों को आज बंद रखने का निर्देश दिया है. दिल्ली मेट्रो ने भी जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, गोकुलपरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार स्टेशन फिलहाल बंद कर दिए हैं. इन इलाकों में भारी संख्या में पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात हैं.