उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हो रही हिंसा के बीच भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा है कि भड़काऊ भाषण देने वालों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने कहा, ‘जिन लोगों ने ये किया है उन पर सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए. ये स्वीकार्य नहीं है. जो हुआ है वो दुर्भाग्यपूर्ण है.’ उनका आगे कहना था, ‘चाहे वो कपिल मिश्रा हों या कोई भी हो, जिसने भी भड़काऊ भाषण दिए हैं, उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए. ये अब किसी पार्टी का मुद्दा नहीं रह गया है, ये पूरी दिल्ली का मुद्दा है. कपिल मिश्रा पर जो भी कार्रवाई होगी मैं उसका समर्थन करता हूं.’

गौतम गंभीर ने कहा कि नेताओं के भड़काऊ भाषणों की कीमत उन्हें नहीं चुकानी पड़ती. उनका कहना था, ‘आप भड़का के चले जाते हैं लेकिन उनके बारे में नहीं सोचते जो प्रभावित होते हैं. आपने भाषण दे दिया, आपका काम ख़त्म हो गया. आपने उस 35 साल के डीसीपी के बारे में नहीं सोचा जो आईसीयू में है.’

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के मौजपुर, भजनपुरा, दयालपुर और शेरपुर जैसे कई इलाकों में कल से हिंसा शुरू हुई थी जो आज भी जारी है. इसमें अब तक एक पुलिसकर्मी सहित सात लोगों की मौत हो चुकी है और 70 अन्य घायल हैं. हालात को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ एक आपात बैठक की है. गृह मंत्री ने पुलिस प्रशासन को जल्द से जल्द सामान्य स्थिति बहाल करने के निर्देश दिए हैं.