भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का एक रक्षा समझौता हुआ है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच आज हुई एक व्यापक बातचीत के बाद इसका ऐलान हुआ. समझौते की जानकारी देते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा कि वे भारत का यह दौरा कभी नहीं भूलेंगे. इन सौदे में अमेरिका से 24 एमएच60 रोमियो हेलिकॉप्टर की 2.6 अरब डॉलर की खरीद शामिल है. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इस समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे. उनका यह भी कहना था कि अमेरिका और भारत ने एक विस्तृत व्यापार समझौते की दिशा में काफी प्रगति कर ली है.

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ रक्षा सहित सभी महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के बीच ऊर्जा और व्यापार साझेदारी पर भी चर्चा हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘रक्षा क्षेत्र में भारत-अमेरिका के बीच मजबूत होता रिश्ता हमारी साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष है.’ उन्होंने यह भी कहा कि पिछले तीन वर्षों में दोनों देशों के द्विपक्षीय व्यापार में काफी बढ़ोतरी हुई है और वह ज्यादा संतुलित भी हुआ है. प्रधानमंत्री का कहना था कि भारतीय पेशेवरों की प्रतिभा ने अमेरिकी कंपनियों की ‘टेक्नॉलजी लीडरशिप को मजबूत किया है.’

उध, डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बयान के दौरान आतंकवाद का जिक्र भी किया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है.’