दिल्ली के उत्तर-पूर्वी हिस्से में तीन दिन से जारी हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 17 तक पहुंच गया है. 48 पुलिसकर्मियों सहित 150 से ज्यादा लोग घायल हैं. इस बीच, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के डीसीपी दफ्तर जाकर मौजूदा हालात के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली. उन्होंने हिंसा की चपेट में आए इलाकों का दौरा भी किया. इस दौरान दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक भी उनके साथ थे.

इससे पहले अजीत डोभाल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक भी की. हिंसा के मद्देनजर पिछले 24 घंटे में अमित शाह की यह तीसरी आपात बैठक थी. इस बैठक में दिल्ली के नव नियुक्त स्पेशल कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव भी मौजूद थे.

दिल्ली के मौजपुर, भजनपुरा, खजूरी खास, गोकुलपुरी, शेरपुर, चांदबाग और दयालपुर इलाके में पत्थरबाजी और आगजनी से जान-माल का भारी नुकसान हुआ है. यहां सामान्य हालात की बहाली के लिए भारी तादाद में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है. धारा 144 बेअसर होने के बाद कुछ इलाकों में कर्फ्यू भी लगा दिया गया है. पुलिस और सीआरपीएफ ने इन इलाकों में फ्लैग मार्च भी किया. दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश हैं. पुलिस ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है.