कांग्रेस ने पिछले तीन दिनों से दिल्ली में हो रही हिंसा के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को इस्तीफा दे देना चाहिए. उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी आलोचना की. सोनिया गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हिंसाग्रस्त इलाकों में शांति की बहाली के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए.

कांग्रेस अध्यक्ष ने दिल्ली पुलिस को भी कटघरे में खड़ा किया. सोनिया गांधी ने कहा, ‘दिल्ली पुलिस को लकवा मार गया है. 72 घंटों में 18 जानें जा चुकी हैं जिनमें एक हेड कॉन्स्टेबल भी शामिल है.’ उनका आगे कहना था कि भाजपा नेताओं ने डर और नफरत का माहौल पैदा किया. सोनिया गांधी ने कहा, ‘इस हिंसा के पीछे एक साजिश है. दिल्ली चुनाव के दौरान भी देश ने देखा कि कैसे भाजपा के कई नेताओं ने भड़काऊ बयान दिए.’

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि शांति बहाल करने के लिए तत्काल सेना बुलाई जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि तमाम कोशिशों के बावजूद पुलिस से हालात नहीं संभल रहे. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वे इस सिलसिले में गृह मंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिख रहे हैं.

दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में आज सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया. कुछ इलाकों में कर्फ्यू भी लगाया गया है. दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश हैं.