कोरोना वायरस ने कल दुनिया भर के शेयर बाजारों में कोहराम मचा दिया. भारतीय शेयर बाजार में इतिहास की अब तक की दूसरी सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई. एशिया, अफ्रीका और अमेरिकी शेयर बाजारों का भी कमोबेश ऐसा ही हाल रहा. यह खबर आज सभी अखबारों के पहले पन्ने पर है. इसके अलावा दिल्ली हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 42 तक पहुंच गया है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. आज दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव कार्यभार संभाल रहे हैं.

उत्तराखंड में 35 साल से हर शनिवार को वकीलों की हड़ताल गैरकानूनी: सुप्रीम कोर्ट

देश के विभिन्न हिस्सों में आए दिन होने वाली वकीलों की हड़ताल पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख दिखाया है. दैनिक जागरण के मुताबिक शीर्ष अदालत ने उत्तराखंड के तीन जिलों देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में 35 वर्षो से हर शनिवार को होने वाली वकीलों की हड़ताल को गैरकानूनी करार दिया है. कोर्ट ने कहा, ‘अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार (अनुच्छेद 19-1-ए) की आड़ में हड़ताल और अदालतों के बहिष्कार को न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता. हाई कोर्ट ने भी इस हड़ताल को गैरकानूनी ठहराया था. शीर्ष अदालत ने कहा, ‘हाई कोर्ट के आदेश का पालन किया जाए. आदेश का उल्लंघन कोर्ट की अवमानना मानी जाएगी और उससे सख्ती से निपटा जाएगा.’

एशिया कप में भारत पाकिस्तान के साथ खेलेगा

एशिया कप के आयोजन स्थल से पर्दा उठ गया है. हिंदुस्तान के मुताबिक सितंबर में होने वाले इस टूर्नामेंट की मेजबानी यूएई करेगा. बीसीसीआई प्रमुख सौरभ गांगुली ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान दोनों इसमें हिस्सा लेंगे. इस टूर्नामेंट के लिए पाकिस्तान को मेजबान देश का दर्जा मिला था, लेकिन बीसीसीआई ने साफ कर दिया था कि सुरक्षा कारणों के चलते उसकी टीम अपने पड़ोसी देश का दौरा नहीं कर सकती. इसके बाद इस टूर्नामेंट को दुबई में आयोजित कराने का फैसला लिया गया.

आरपीएफ में 20 हजार भर्ती निकली, रेलवे ने कहा- विज्ञप्ति फर्जी है

रेलवे ने बीते दिनों आए आरपीएफ की भर्ती के एक विज्ञापन को लेकर लोगों को चेतावनी दी है. दैनिक भास्कर के मुताबिक उसने कहा है कि यह विज्ञापन फर्जी है. प्लेसमेंट स्टोर नाम की एक वेबसाइट द्वारा रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) में 20 हजार कांस्टेबल भर्ती के लिए आवेदन मांगा गया है. आवेदन की तिथि 20 फरवरी से 30 अप्रैल तक रखी गई है. गुरुवार को रेलवे बोर्ड स्थित आरपीएफ निदेशालय ने इस भर्ती प्रक्रिया को फर्जी बताया. इस संबंध में सभी जोनल, मंडल मुख्यालयों और आवेदकों को अलर्ट जारी किया गया है. विज्ञापन जारी करने वाली वेबसाइट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है.