केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को पश्चिम बंगाल के राजारहाट में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 29वें स्पेशल कंपोजिट ग्रुप कॉम्पलेक्स का उद्घाटन किया. इस दौरान एनएसजी के जवानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग देश को तोड़ना चाहते हैं और शांति भंग करना चाहते हैं उन्हें एनएसजी की मौजूदगी का डर होना चाहिए. अगर इसके बाद भी वो लोग नहीं रुकते हैं तो यह एनएसजी की जिम्मेदारी है कि वह उनसे मुकाबला करे और उन्हें परास्त करे.

एनएसजी कॉम्पलेक्स के उद्घाटन समारोह में गृह मंत्री ने आगे कहा, ‘हम पूरी दुनिया में शांति चाहते हैं. दस हजार सालों के हमारे इतिहास में भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया. बावजूद इसके हम किसी को अपनी शांति भंग करने की इजाजत नहीं देंगे और जो कोई भी हमारे जवानों की जान लेगा उसे भारी कीमत चुकानी होगी.

इस दौरान अमित शाह का एनएसजी के जवानों से यह भी कहना था, ‘हम आपको अच्छी सुविधा दे सकते हैं, अच्छा घर दे सकते हैं, आपके और आपके परिवारवालों की जरूरतों का ख्याल रख सकते हैं. आधुनिक सुविधाएं दे सकते हैं, लेकिन युद्ध सामानों से नहीं बल्कि बहादुरी और हिम्मत से जीता जाता है.’ उनके मुताबिक सामान और तकनीक कभी भी बहादुरी का स्थान नहीं ले सकते हैं.