मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि विधायक ही मुझे इन बातों की जानकारी देते हैं और मैंने तो उनसे कहा है कि फोकट का पैसा मिल रहा है, ले लेना.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कुछ दिनों पहले आरोप लगाया था कि भाजपा प्रदेश में सरकार बनाने के लिए विधायकों को पैसा देकर उन्हें तोड़ने की कोशिश कर रही है. इस आरोप पर मीडिया ने कमलनाथ से सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, ‘विधायक ही कह रहे हैं कि हमें इतना पैसा दिया जा रहा है. मैं तो विधायकों को कह रहा हूं कि फोकट का पैसा मिल रहा है, ले लेना.’ वहीं, भाजपा ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता आदतन झूठ बोलते हैं.

230 सदस्यीय मध्य प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के 114 विधायक हैं. कांग्रेस सरकार को चार निर्दलीय विधायक, दो बीएसपी और एक सपा विधायक का भी समर्थन है. भाजपा के पास 104 विधायक हैं. इस महीने राज्यसभा की तीन सीटों के चुनाव भी होने हैं. विधायक की मौजूदा संख्या के बल पर भाजपा और कांग्रेस एक-एक सीट आराम से जीत सकते हैं. लेकिन, तीसरी सीट पर जीत के लिए निर्दलीय और अन्य पार्टियों के वोट काफी अहम होंगे. इसी वजह से एक बार फिर मध्य प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त की चर्चा जोरों पर है.