मध्य प्रदेश में देर रात चले एक सियासी ड्रामे में कांग्रेस ने भाजपा पर अपने विधायकों को तोड़ने की कोशिश का आरोप लगाया. राज्य में सत्ताधारी पार्टी ने कहा कि सरकार गिराने की साजिश के तहत आठ विधायकों को हरियाणा के एक होटल में ले जाया गया है. उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी का कहना था कि इस साजिश में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हैं.

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी यही बात कही थी. पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के एक अन्य वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा 25-35 करोड़ रुपये देकर कांग्रेस के विधायकों को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं.

जीतू पटवारी के मुताबिक इन विधायकों में चार फिलहाल वापस आ गए हैं. दिग्विजय सिंह का कहना है कि बाकी चार विधायकों को भाजपा ने बेंगलुरु भेज दिया है लेकिन वे सब भी लौट आएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार सुरक्षित थी, है और रहेगी. राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी कहा है कि स्थिति नियंत्रण में है. उधर, भाजपा ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज कर दिया है.