महाराष्ट्र भाजपा ने नए नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध करने वाले अपने दो नेताओं को निलंबित कर दिया है. पार्टी प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने बुधवार को अपने एक ट्वीट के जरिये यह जानकारी दी. उन्होंने इन नेताओं के निलंबन पत्र भी साझा किए हैं. इनके मुताबिक परभनी जिले में स्थित सेलू नगर परिषद के चेयरपर्सन विनोद बरोड़े और पालम नगर परिषद के उपप्रमुख बालासाहेब रोकड़े को भाजपा से निलंबित कर दिया गया है.

निलंबन के इन पत्रों पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के दस्तखत हैं. इसमें कहा गया है कि दोनों पार्टी नेताओं ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ मतदान करके अनुशासनहीनता का परिचय दिया है. हालांकि वे कितने समय तक निलंबित रहेंगे, इसका कोई जिक्र नहीं है.

सीएए का देशव्यापी विरोध हो रहा है. इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले गैरमुस्लिमों को आसानी से भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है. विपक्ष का कहना है कि यह संविधान की आत्मा पर हमला है. बीते दिसंबर में इस मुद्दे को लेकर असम और उत्तर प्रदेश में व्यापक हिंसा हुई जिसमें 20 से ज्यादा लोग मारे गए. बीते हफ्ते ही इसे लेकर दिल्ली में भी दंगे भड़क उठे जिनमें 45 लोगों की मौत हो गई. उधर, सरकार ने साफ कर दिया है कि वह इस कानून से कदम पीछे नहीं खींचेगी.