अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती का असर बीसीसीआई पर भी होता दिख रहा है. दुनिया की सबसे अमीर खेल संस्थाओं में गिना जाने वाला बोर्ड कई मोर्चों पर खर्च में कटौती कर रहा है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक बीसीसीआई ने आईपीएल से जुड़े सभी पक्षों को एक सर्कुलर भेजा है. इसमें कहा गया है कि इस साल आईपीएल की ‘ओपनिंग सेरेमनी’ नहीं होगी.

इस सर्कुलर के मुताबिक 2020 में आईपीएल के शुरुआती यानी प्ले ऑफ मुकाबलों के लिए रखा जाने वाला खर्च भी कम किया गया है. यह कमी 50 फीसदी तक है. आईपीएल विजेता के लिए ईनामी रकम को भी 50 पीसदी घटाते हुए इसे 10 करोड़ कर दिया गया है. उपविजेता को अब पहले के 12.5 करोड़ के मुकाबले 6.25 करोड़ रु दिए जाएंगे. तीसरे और चौथे पायदान पर रहने वाली टीमों को भी अब 8.75 के बजाय 4.37 करोड़ रु मिलेंगे.

अखबार के मुताबिक आईपीएल की कम से कम चार फ्रेंचाइजी इससे खुश नहीं हैं. इनममें से दो ने तो इस मुद्दे को संबंधित अधिकारियों के सामने उठाने की बात भी कही है.

खर्च में यह कटौती सिर्फ आईपीएल के मामले में नहीं है. बीसीसीआई ने अपने सपोर्ट स्टाफ के लिए नई यात्रा नीति भी जारी की है. पहले तीन घंटे से ज्यादा की फ्लाइट होने पर किसी वरिष्ठ कर्मचारी को बिजनेस क्लास टिकट दिया जाता था. लेकिन अब यह सिर्फ आठ घंटे से ज्यादा लंबी यात्रा के लिए ही मिलेगा. इससे कम में कर्मचारी को इकॉनमी क्लास से जाना होगा.