कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के कई नेताओं के साथ बुधवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया. राहुल गांधी ब्रिजपुरी में हिंसा के दौरान जलाए गए एक स्कूल में भी गए.

इसके बाद पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘यहां एकता और भाईचारे को जलाया गया. इस प्रकार की राजनीति से हिन्दुस्तान और भारत माता को नुकसान होता है. यह स्कूल दिल्ली का भविष्य है. घृणा और हिंसा ने इसे नष्ट कर दिया है.’ राहुल गांधी के मुताबिक देश में जब इस तरह की हिंसा होती है तो दुनिया में हिन्दुस्तान की प्रतिष्ठा को भारी नुकसान पहुंचता है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने लोगों से अपील करते हुए कहा, ‘सभी को मिलकर काम करना होगा. सबको साथ जोड़कर हिंदुस्तान को आगे बढ़ाया जा सकता है. भाईचार, एकता प्यार हमारी ताकत है. उसे यहां जलाया गया है. दुनिया में जो हमारी प्रतिष्ठा है उसे यहां जलाया गया है.’

हिंसा प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने वाले कांग्रेस नेताओं में राहुल गांधी के अलावा पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल, अधीर रंजन चौधरी, कुमारी शैलजा, मुकुल वासनिक, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, सांसद गौरव गोगोई और कुछ अन्य नेता शामिल थे.

पिछले दिनों उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा में 48 लोगों की मौत हुई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.