भारतीय रिजर्व बैंक ने नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक से निकासी की सीमा 50 हजार रु तय कर दी है. फिलहाल यह रोक तीन अप्रैल तक लगी रहेगी. रिजर्व बैंक ने यस बैंक के निदेशक मंडल को भी भंग कर दिया है. बैंक के कारोबार पर कई अन्य पाबंदियां भी लगा दी गई हैं.

ताजा फैसला यस बैंक की लगातार बिगड़ती स्थिति के मद्देनजर लिया गया है. बैंक का कामकाज अब रिजर्व बैंक द्वारा नियुक्त किए गए प्रशासक के हाथ में रहेगा. भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) प्रशांत कुमार यह जिम्मा संभालेंगे.

इस तरह का यह पहला मामला नहीं है. तकरीबन छह महीने पहले आरबीआई ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक पर इसी तरह का प्रतिबंध लगाया था. केंद्रीय बैंक ने पीएमसी बैंक से अधिकतम 10 हजार रुपये की निकासी सीमा तय की थी. हालांकि बाद में इसे बढ़ा दिया गया था.