प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शेख मुजीबुर रहमान शताब्‍दी समारोह में भाग लेने के लिए बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का न्योता स्वीकार कर लिया है. बांग्लादेश के संस्थापक और प्रथम राष्ट्रपति शेख मुजीबुर रहमान की सौवीं जयंती पर वहां मार्च के दूसरे हफ्ते में कई बड़े आयोजन हो रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह फैसला ऐसे समय में किया है जब दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में बांग्लादेश की कई इस्लामिक पार्टियों ने व्यापक प्रदर्शन किए हैं. इन पार्टियों ने भारतीय प्रधानमंत्री को भेजा गया न्योता वापस लेने की मांग की थी.

दिल्ली में हुई हिंसा में 45 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. विपक्ष इसके लिए सरकार को जिम्मेदार बता रहा है तो सरकार इसका ठीकरा विपक्ष पर फोड़ रही है. इस मुद्दे पर हो रहे हंगामे के चलते पिछले चार दिन संसद के दोनों सदनों में काम लगभग ठप पड़ा है. विपक्ष इस पर फौरन चर्चा चाहता है. उधर, सरकार का कहना है कि चर्चा होली के बाद होगी.