महाराष्ट्र सरकार के 100 दिन पूरे होने के मौके पर अयोध्या पहुंचे राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राम मंदिर के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर के लिए यह पैसे राज्य सरकार की ओर से नहीं बल्कि शिवसेना की ओर से दिए जाएंगे.

अयोध्या पहुंचे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘डेढ़ साल में यह मेरा अयोध्या का तीसरा दौरा है. मैं यहां रामलला का आशीर्वाद लेने आया हूं.’ उद्धव ठाकरे ने आगे कहा, ‘हिंदुत्व और बीजेपी अलग-अलग हैं. मैं बीजेपी से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं.’ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का अयोध्या में सरयू आरती का भी कार्यक्रम था. लेकिन, कोरोना वायरस के बारे में जारी एडवाइजरी के बाद इसे रद्द कर दिया गया. शिवसेना नेता संजय राऊत ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र होने से बचने की सरकार की सलाह को देखते हुए ऐसा किया गया है.

भाजपा से अलग होने के बाद शिवसेना पर अपनी हिंदुत्व की विचारधारा से समझौते के आरोप लग रहे हैं. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का अयोध्या दौरा इन आरोपों को खारिज करने के सिलसिले की एक कड़ी माना जा रहा है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में भी कहा कि राम और हिंदुत्व किसी एक राजनीतिक दल की संपत्ति नहीं है. मुखपत्र में शिवसेना को अपनी हिंदुत्व की नीति पर कायम रखने की बात कही गई है.