‘सरकार ने हमारी जिंदगी खतरे में डाल दी है.’

— एसआर दारापुरी, पूर्व पुलिस अधिकारी

पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी का यह बयान पुलिस-प्रशासन द्वारा लखनऊ में लगाए गए 53 लोगों के पोस्टरों पर आया है जिनमें उनका भी नाम और पता है. लखनऊ प्रशासन और पुलिस के मुताबिक ये लोग पिछले साल सीएए के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शन में शामिल थे. उसका यह भी कहना है कि प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को पहुंचे नुकसान की इन लोगों से भरपाई के लिए ये पोस्टर लगाए गए हैं. हालांकि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उससे ये पोस्टर हटाने को कहा है. अदालत ने इस कदम को अवैध और मानवाधिकारों का उल्लंघन करार देते हुए लखनऊ प्रशासन से 16 मार्च तक इस मामले में रिपोर्ट भी तलब की है.

‘स्वस्थ व्यक्तियों को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है.’   

— अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

अरविंद केजरीवाल की यह टिप्पणी दिल्ली में कोरोना वायरस के तीन मामलों की पुष्टि के बाद बाजार में मास्क और हैंड सैनिटाइजर की मांग बढ़ने के बीच आई है. उन्होंने कहा कि यदि कोई स्वस्थ व्यक्ति मास्क पहनता है तो ऐसी परिस्थिति पैदा हो सकती है जब वह अपने हाथ का इस्तेमाल मास्क को ठीक करने के लिए करे. अरविंद केजरीवाल का कहना था, ‘तब आप खुद को संक्रमित होने के खतरे में डालेंगे.’


‘सरकार पूरी तरह अलर्ट है.’

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात अमेरिका में कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर कही है. वहां इस वायरस से मरने वालों की संख्या 21 हो गई है जबकि 500 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं. इसकी वजह से डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन की काफी आलोचना हो रही है. इससे पहले इस खबर के बाद हड़कंप मच गया था कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक शख्स ने एक आयोजन के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति से हाथ मिलाया था.