मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ राज्यपाल से मिले, विश्वासमत परीक्षण का अनुरोध किया

मध्य प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की. उन्होंने राज्यपाल को एक चिट्ठी सौंपी. इसमें आरोप लगाया गया है कि भाजपा, कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त की कोशिश कर रही है और उसने 22 विधायकों को बंधक बनाकर रखा हुआ है. कमलनाथ ने राज्यपाल से विश्वासमत परीक्षण करवाने का अनुरोध भी किया. उनकी सरकार के 22 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं. ये सभी ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक हैं जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं. कमलनाथ ने ये दावा भी किया कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है और वे विश्वासमत साबित कर देंगे.

फारुक अब्दुल्ला रिहा हुए, कहा – मेरी आजादी के लिए लड़ने वालों का शुक्रिया

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला सात महीने बाद आज रिहा हो गए. उन पर लगा जन सुरक्षा कानून यानी पीएसए हटा दिया गया है. 83 साल के फारुक अब्दुल्ला पिछले साल पांच अगस्त से हिरासत में थे. इसी महीने सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया था. रिहा होने के बाद फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि वे उन सभी लोगों को शुक्रिया कहना चाहते हैं जो उनकी आजादी के लिए लड़े. कुछ दिन पहले ही शरद पवार और ममता बनर्जी सहित विपक्ष के तमाम नेताओं ने एक साझा बयान कर फारुक अब्दुल्ला की रिहाई की मांग की थी. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री का यह भी कहना था कि कश्मीर के बाकी नेताओं के रिहा होने तक वे कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करेंगे. उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती अब भी पीएसए के तहत हिरासत में हैं.

केंद्रीय कर्मचारियों को सरकार का तोहफा, मंहगाई भत्ता चार फीसदी बढ़ाया

केंद्र सरकार ने 48 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा दिया है. उनका महंगाई भत्ता यानी डीए 17 से बढ़ाकर 21 फीसदी कर दिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली केंद्रीय कैबिनट ने आज ये फैसला किया. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ये फैसला एक जनवरी 2020 से लागू होगा. सरकार का ये कदम 65 लाख पेंशनधारकों को भी फायदा पहुंचाएगा. प्रकाश जावडेकर का ये भी कहना था कि इससे एक करोड़ से ज्यादा परिवारों को लाभ होगा. महंगाई भत्ते में की गई इस बढ़ोतरी से सरकारी खजाने पर करीब साढ़े 14 हजार करोड़ रु का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा.

कोरोना वायरस का असर आईपीएल पर भी, बीसीसीआई ने इसे 15 अप्रैल तक टाला

कोरोना वायरस का असर आईपीएल पर भी पड़ा है. बीसीसीआई ने इस आयोजन को अब 15 अप्रैल से शुरू करने की बात कही है. पहले ये तारीख 29 मार्च थी. इससे पहले दिल्ली सरकार ने ऐलान किया था कि राजधानी में आईपीएल के मैच नहीं होंगे. दिल्ली सरकार शिक्षण संस्थानों और सिनेमाघरों को 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश भी दे चुकी है. इससे पहले कर्नाटक ने भी आईपीएल के मैचों के आयोजन को लेकर अनिच्छा जताई थी, जबकि महाराष्ट्र ने अपने यहां होने वाले मैचों के टिकटों की बिक्री रोक दी थी. भारत में अब तक कोरोना वायरस के 70 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. इससे एक मौत भी हो चुकी है.

शेयर बाजार में ऐतिहासिक गिरावट के बाद असाधारण उछाल

भारतीय शेयर बाजार में आज का दिन अविश्वसनीय रहा. पहले बाजार ने गिरावट के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. कारोबार की शुरुआत में ही सेसेंक्स ने तीन हजार तो निफ्टी ने सात सौ से ज्यादा अंकों का गोता लगाया. तेज बिकवाली के चलते हालत ये हो गई कि कुछ समय के लिए ट्रेडिंग रोकनी पड़ी. लेकिन बाद में बाजार में असाधारण तेजी देखने को मिली. सेंसेक्स चार हजार अंक चढ़कर 34 हजार के ऊपर बंद हुआ तो निफ्टी भी एक हजार से ज्यादा अंकों की तेजी के साथ 10 हजार के पास पहुंच गया.