मीडिया – अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए आपने क्या उपाय किए हैं?

निर्मला सीतारमण - पहले हम बजट में ब्रीफकेस की जगह बहीखाता लाए और अब जल्दी ही स्टॉक मार्केट वाले बैल को गाय से बदलने जा रहे हैं


एक्सवाय-न्यूज़ – दिल्ली में ओले पड़े

ज़ी-न्यूज़ – दिल्ली में पहले सिर्फ पानी की बारिश होती थी. ये पत्थरबाज़ी का चलन कश्मीर से आया है, इसे बर्फीला ज़िहाद भी कहते हैं


लल्लन – ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी बदलने से सबसे बड़ा बदलाव क्या होगा?

बब्बन – यही कि अब कांग्रेसियों को पूरा सिंधिया घराना देशद्रोही और भाजपाइयों को देशप्रेमी लगने लगेगा


सप्ताह का कार्टून -

इरशाद कप्तान के ट्विटर अकाउंट से

शिक्षक – आयरनी किसे कहते हैं?

छात्र – सर, पहले गृहमंत्री ने दंगों में मरने वालों को श्रद्धांजलि दी और फिर दिल्ली पुलिस की तारीफ की


मुकुंदी - ज्योतिरादित्य भाजपा में चले गए, बताइए!
विभूती - अरे भई, जब भाजपा एक महाराजा (एयर इंडिया) को बेच सकती है तो एक महाराजा को खरीद भी तो सकती है


सरदार पटेल – क्या बात है, पंडित जी बहुत खुश हैं?

जवाहरलाल नेहरू – पहले मंदी, फिर दंगे और अब कोरोना वायरस. धरती पर आजकल कोई मुझे नहीं गरियाता