दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए दिल्ली में 50 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा हो़ने पर पाबंदी लगा दी है. सोमवार को मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह जानकारी दी है. उन्होंने कहा, ‘कहीं भी किसी भी हालत में 50 लोगों से ज्यादा लोगों को एक साथ इकट्ठा होने की इजाजत नहीं दी जाएगी.’

जब मुख्यमंत्री केजरीवाल से सवाल पूछा गया कि क्या शाहीन बाग के लोगों से भी आप हटने की अपील कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि ये आदेश सभी के ऊपर यह लागू है फिर चाहे वह विरोध प्रदर्शन करने वाले हों या कोई और. इसके बाद जब उनसे दोबारा पूछा गया कि 50 से ज्यादा लोग अगर प्रदर्शन करते हैं तो क्या उनके ऊपर कोई कार्रवाई भी होगी? इस पर अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘एपिडेमिक एक्ट के अंदर डीएम और एसडीएम के पास शक्ति है. जो भी कार्रवाई करने की जरूरत है ये लोग करेंगे.’

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपने पर घर पर ‘जनता संवाद’ कार्यक्रम भी बंद कर दिया है. सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 से 11 बजे तक यह जनता संवाद चलता है. इस कार्यक्रम में केजरीवाल आम जनता की समस्याओं का समाधान करते हैं.

केजरीवाल ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने टास्क फोर्स की बैठक की. इस बैठक में दिल्ली के सारे जिम, नाइट क्लब और स्पा को भी 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश जारी कर दिया गया है. इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से 31 मार्च तक होने वाले शादी समारोहों को टालने की भी अपील की. दिल्ली के मुख्यमंत्री के मुताबिक कोरोना से निपटने के लिए पूरी दिल्ली में हाथ धोने के लिए डिस्पेंसिंग मशीनें लगाई जाएगी.