कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चेतावनी दी है कि अगले छह महीनों में कोरोना वायरस से आर्थिक मोर्चे पर विनाश होने वाला है. खबरों के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘अगर भारत ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए खुद को तैयार नहीं किया तो देश के लोग एक ऐसी पीड़ा से गुजरने वाले हैं जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती.’

राहुल गांधी का कहना था, ‘मैं आपको एक कहानी सुनाता हूं. अंडमान निकोबार में सुनामी आने से पहले समंदर सिमट गया. जब ऐसा हुआ तो हर कोई मछली पकड़ने दौड़ा. जैसे ही वे आगे गए पानी वापस आ गया. मैं सरकार को लगातार चेतावनी दे रहा हूं. वे बस बातें बना रहे हैं...उन्हें पता ही नहीं कि क्या करना है...कोरोना वायरस सूनामी है.’ राहुल गांधी पहले भी इसे लेकर सरकार पर हमला बोल चुके हैं. हाल में उन्होंने कहा था कि देश की गाड़ी हादसे की तरफ बढ़ रही है और ड्राइविंग सीट पर बैठे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सो रहे हैं.

कोरोना वायरस से भारत में तीन मौतें हो चुकी हैं. इससे प्रभावित लोगों का आंकड़ा 100 से ऊपर जा चुका है. उधर, पूरी दुनिया की बात करें तो यह वायरस अभी तक 5000 से ज्यादा जानें ले चुका है और डेढ़ लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं.