बुधवार शाम छह बजे के बाद यस बैंक की सभी सेवाओं का इस्तेमाल उसके ग्राहक कर सकेंगे. ये बात यस बैंक के नए प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रशांत कुमार ने कही है. उन्होंने कहा है कि बैंक के पास नकदी की कोई कमी नहीं है. बीती पांच मार्च को भारतीय रिजर्व बैंक ने यस बैंक के कामकाज पर पाबंदी लगा दी थी. बैंक के ग्राहकों के लिए तीन अप्रैल तक खाते से 50 हजार रुपये तक की निकासी सीमा तय कर दी गई थी.

मंगलवार को दिल्ली में प्रशांत कुमार ने एक प्रेस कांफ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कहा कि यस बैंक की सभी ऑनलाइन सर्विस पूरी तरह से काम कर रही है. बैंक के एटीएम में कैश की कोई कमी नहीं है. बुधवार शाम से सभी तरह के प्रतिबंध हटा दिए जाएंगे. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन रजनीश कुमार भी मौजूद थे. रजनीश कुमार ने यस बैंक के ग्राहकों को आश्वस्त करते हुए कहा, ‘एसबीआई ने यस बैंक के जो शेयर खरीदे हैं, वह उन्हें बेचने के लिए पूरी तरह से आज़ाद है. लेकिन मैं यकीन दिलाना चाहता हूं कि अगले तीन साल तक यस बैंक का एक भी शेयर नहीं बेचा जाएगा.’

एसबीआई ने यस बैंक में 7,250 करोड़ रुपए का निवेश कर 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. इसके अलावा यस बैंक में आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी ने एक-एक हजार करोड़ और एक्सिस बैंक ने 600 करोड़ रुपए का निवेश किया है.