कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को बेंगुलुरु में हिरासत में ले लिया गया है. वे मध्य प्रदेश में कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने के लिए यहां स्थित एक रिजॉर्ट में पहुंचे थे. हालांकि पुलिस ने उन्हें अंदर नहीं जाने दिया. इसके बाद वे रिजॉर्ट के बाहर ही धरने पर बैठ गए. इस पर पुलिस ने दिग्विजय सिंह को एहतियातन हिरासत में ले लिया. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से पांच विधायकों से बात की है जिनका कहना है कि उन्हें कैद करके रखा गया है. उन्होंने पुलिस की कार्रवाई के विरोध में भूख हड़ताल करने की बात कही है.

इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. एक याचिका में उसने आरोप लगाया है कि भाजपा ने उसके 16 विधायकों को कब्जे में रखा है. याचिका में यह भी कहा गया है कि 16 विधायकों की अनुपस्थिति में बहुमत परीक्षण नहीं हो सकता. कांग्रेस पार्टी ने विश्वासमत परीक्षण के लिए राज्यपाल लालजी टंडन के निर्देश पर भी सवाल उठाया है.

इससे पहले भाजपा भी सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी. उसकी मांग है कि बहुमत परीक्षण फौरन हो. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने आज मुख्यमंत्री कमलनाथ से जवाब मांगा है. मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 22 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं जिनमें से छह के इस्तीफे स्वीकार किये जा चुके हैं.