बिहार, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, हिमाचल, असम और तमिलनाडु में राज्यसभा के सभी प्रत्याशी निर्विरोध चुन लिए गए हैं. इन राज्यों में जितनी सीटों पर चुनाव होना था, उतने ही प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया था. ऐसे में बुधवार को नामवापसी का समय समाप्त होने के बाद सभी को निर्वाचित घोषित कर दिया गया.

बिहार में जदयू के हरिवंश और रामनाथ ठाकुर, भाजपा के विवेक ठाकुर और राजद के प्रेमचंद गुप्ता और अमरेंद्र धारी सिंह को निर्विरोध चुना गया. हरिवंश और रामनाथ ठाकुर लगातार दूसरी बार जदयू से राज्यसभा पहुंचे हैं. जबकि राजद से प्रेमचंद गुप्ता पांचवीं बार राज्यसभा गए हैं. अमरेंद्र धारी सिंह और विवेक ठाकुर पहली बार राज्यसभा जा रहे हैं. विवेक ठाकुर पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ सीपी ठाकुर के पुत्र हैं.

हरियाणा से राज्यसभा के लिए भाजपा के उम्मीदवार राम चंदर जांगड़ा और दुष्यंत कुमार गौतम को निर्विरोध निर्वाचित किया गया है. कांग्रेस के दीपेंद्र सिंह हुड्डा भी राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए हैं. पश्चिम बंगाल की पांच राज्यसभा सीटों के लिए चार टीएमसी और एक सीपीआई (एम) के उम्मीदवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया है. हिमाचल प्रदेश की एक सीट पर चुनाव होना था, इसके लिए भाजपा की इंदु गोस्वामी निर्विरोध चुनी गई हैं.

उत्तर-पूर्व के राज्य असम की तीन राज्यसभा सींटों के लिए भी तीन सदस्य निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए हैं. इनमें भाजपा की भुवनेश्वर कलीता और भाजपा की सहयोगी पार्टी बीपीएफ के बिश्वजीत डाइमरी शामिल हैं. तीसरे निर्विरोध चुने गए सदस्य अजीत कुमार भुयान हैं, जिन्हें कांग्रेस व एआईयूडीएफ का समर्थन हासिल है.

वहीं, तमिलनाडु से छह राज्यसभा सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने वाले सभी छह उम्मीदवार बुधवार को निर्विरोध निर्वाचित किए गए. इनमें डीएमके से त्रिची शिवा, एनआर एलंगो और एंथियूर सेलवराज, एआइएडीएमके से एम थम्बीदुरई और तमिल मानिला को निर्विरोध चुना गया है. तमिलनाडु से ही कांग्रेस के जीके वासन भी राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए हैं.