कोरोना वायरस को लेकर गलत जानकारी फैलाने के आरोप में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. इन्हें किश्तवाड़, कानपुर, नरसिंहपुर और वाराणसी से गिरफ्तार किया गया है. इनमें से एक मंत्र के इलाज से कोरोना वायरस का दावा कर रहा था. उधर, बेंगलुरु में अपने बेटे के स्पेन से आने की बात छिपाने वाले रेलवे के एक कर्मचारी को निलंबित कर दिया गया है. उसका बेटा बाद में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया.

भारत में कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा 206 तक पहुंच गया है. अब तक इससे चार मौतें हो चुकी हैं. कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मुद्दे पर देश को संबोधित किया था. उन्होंने देशवासियों से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की थी और कहा था कि वे इस दिन सुबह सात बजे से लेकर शाम के नौ बजे तक घर से बाहर न निकलें.

पूरी दुनिया की बात करें तो अब तक कोरोना वायरस से नौ हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. मौतों के मामले में इटली ने चीन को पीछे छोड़ दिया है. चीन में गुरुवार को इस वायरस के संक्रमण का एक भी नया मामला दर्ज नहीं किया गया. लेकिन चिंता की बात यह है कि यूरोप और अमेरिका में ये मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं.