दो नए मामलों के साथ भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 283 तक पहुंच गई है. इनमें पहला मामला पश्चिम बंगाल और दूसरा महाराष्ट्र में दर्ज हुआ है. चिंता की बात यह है कि इन दोनों में से कोई भी हाल में विदेश नहीं गया था. यानी यह कोरोना वायरस के सामुदायिक संक्रमण का संकेत हो सकता है. हालात बिगड़ने की आशंका के मद्देजनर सरकार ने इस वायरस के परीक्षण के मानकों में कुछ बदलाव किए हैं. अब न्यूमोनिया के सारे मामलों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच होगी. अस्पतालों को इस बारे में सूचित कर दिया गया है.

कोरोना वायरस से हो रही मौतों में एक बड़ी संख्या न्यूमोनिया से मरने वालों की ही है. इससे पहले सिर्फ उन्हीं मरीजों की जांच हो रही थी जो कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से भारत आए हों या इसके मरीजों के संपर्क में आए हों. भारत में इस वायरस से अब तक चार लोगों की मौत हो गई है जबकि 23 मरीज इसके संक्रमण से उबर गए हैं.

बाकी दुनिया की बात करें तो इटली में शुक्रवार को कोरोना वायरस ने 627 लोगों की जान ले ली. इस तरह दुनिया में इसके चलते हुई कुल मौतों का आंकड़ा 11 हजार को पार कर गया. संक्रमित लोगों की संख्या पौने तीन लाख के पास पहुंच गई है. हालांकि थोड़ी राहत की बात है कि कोरोना वायरस संक्रमण के केंद्र रहे चीन के वुहान शहर में शुक्रवार को भी कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया.

कोरोना वायरस से जिन देशों में सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं उनमें इटली (4032) पहले नंबर पर है. इसके बाद चीन (3139), ईरान (1433) और स्पेन (1093) हैं. अमेरिका में भी 100 से ज्यादा लोग इसके शिकार हो चुके हैं और वहां आपातकाल की घोषणा की जा चुकी है.

उधर, भारत में कल जनता कर्फ्यू की तैयारी की जा रही है. यह महाबंद सुबह सात बजे से लेकर रात के नौ बजे तक चलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका आह्वान किया है. आज भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की कि वे जिस शहर में हैं वहीं रुक जाएं ताकि वायरस को फैलने से रोका जा सके. कल कोई ट्रेन भी नहीं चलेगी. इसके इतर भी बड़ी संख्या में ट्रेनें रद्द की जा रही हैं.