देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की है कि वे सरकारों द्वारा जारी किए गए निर्देशों का गंभीरता के साथ पालन करें. एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि अब भी कई लोग लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रहे. नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकारों से भी कहा कि वे नियमों और कानूनों का पालन करवाएं.

कोरोना वायरस के चलते राजधानी दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में लॉक डाउन घोषित किया गया है. 31 मार्च तक सभी ट्रेनें, मेट्रो सेवाएं और अंतरराज्यीय बस सेवाएं बंद कर दी गई हैं. इस दौरान सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. सिर्फ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी.

भारत में कोरोना वायरस से मौतों की संख्या सात हो चुकी है जबकि इसकी चपेट में आए लोगों का आंकड़ा 300 के ऊपर पहुंच गया है. इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में राज्यों के कैबिनेट और मुख्य सचिवों की उच्चस्तरीय बैठक हुई. इसमें कोरोना वायरस से उपजी महामारी को हर हाल में तीसरे चरण में आने से रोकने पर गंभीर मंथन हुआ. हालात को देखते हुए माना जा रहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो 31 मार्च से पहले एक बार फिर जनता कर्फ्यू का ऐलान किया जा सकता है. 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान लगभग समूचा देश थम गया था. माना जा रहा है कि इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी.