कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर देश को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि सरकार ने आज रात 12 बजे से पूरे देश को लॉकडाउन करने का फैसला किया है. यह लॉकडाउन अगले 21 दिनों तक यानी 14 अप्रैल तक जारी रहेगा. उन्होंने कहा, ‘घर से बाहर निकलना क्या होता है, यह 21 दिन के लिए भूल जाइए .इसे कर्फ्यू जैसा ही समझा जाए.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह भी कहना था कि अगर इन 21 दिनों में सावधानी नहीं बरती गई तो देश और लोग 21 साल पीछे चले जाएंगे. उन्होंने लोगों से धैर्य रखने की अपील भी की. नरेंद्र मोदी ने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि इस दौरान जरूरी चीजों की कमी नहीं होने दी जाएगी.

पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान एक और घोषणा भी की. उन्होंने कहा, ‘कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए, देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है.’

कोरोना वायरस का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है. अब तक देश में 551 लोग इसकी चपेट में आ गए हैं. इनमें से दस लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र और केरल हुए हैं. महाराष्ट्र में अब तक 107 और केरल में 95 केस सामने आए हैं. कोरोना की वजह से 30 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पहले ही लॉकडाउन लागू कर दिया था.