कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के उपायों के बीच कैबिनेट सचिव राजीव गाबा ने राज्यों को एक पत्र लिखा है. इसमें विदेश से भारत आए यात्रियों की निगरानी को लेकर चिंता जताई गयी है. राजीव गाबा ने राज्य सरकारों से कहा है कि 18 जनवरी से 23 मार्च के बीच 15 लाख से ज्यादा यात्री विदेश से भारत आए हैं, लेकिन यह संख्या निगरानी में रखे गए यात्रियों की संख्या के बराबर नहीं है. दोनों आंकड़ों के बीच बड़ा अंतर है. कैबिनेट सचिव के मुताबिक यह चूक कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई को प्रभावित कर सकती है.

राजीव गाबा ने राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों को कहा है कि जिन यात्रियों को कोरोना को लेकर निगरानी में नहीं रखा गया है, उनके बारे में पता लगाकर उचित और आवश्यक कार्रवाई की जाए. उनके मुताबिक ऐसे लोगों को खोज कर उन्हें तुरंत निगरानी में रखा जाए. राज्य सरकारों से ऐसे यात्रियों का पता लगाने के लिए जिला अधिकारियों की मदद लेने के लिए भी कहा गया है.