कोरोना वायरस संकट ने जर्मनी के हेस्से प्रांत के वित्त मंत्री थॉमस श्येफर की जान ले ली. खबरों के मुताबिक उन्होंने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली. हेस्से प्रांत के मुख्यमंत्री (प्रीमियर) फोल्कर बोफियर के मुताबिक थॉमस श्येफर यह सोचकर काफी परेशान थे कि कोरोना वायरस से उपजे आर्थिक संकट से कैसे निपटा जाए. एक बयान में उन्होंने कहा, ‘हम सन्न हैं. विश्वास नहीं हो रहा और हमें इसका बहुत दुख है.’

54 साल के थॉमस श्येफर बीते 10 साल से हेस्से के वित्त मंत्री थे. जर्मनी की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाला शहर फ्रैंकफर्ट इसी प्रांत में है. डॉयचे बैंक और यूरोपियन सेंट्रल बैंक जैसे कई जानी-मानी कंपनियों के आर्थिक मुख्यालय यहां पर हैं. फोल्कर बोफियर के मुताबिक थॉमस बीते कुछ समय से दिन-रात इस पर काम कर रहे थे कि कोरोना वायरस जैसी महामारी के प्रकोप से कंपनियों और उनके कामगारों को कैसे बचाया जाए. उनका कहना था, ‘ऐसे मुश्किल दौर में ही हमें उनके जैसे शख्स की जरूरत थी.’ खासे लोकप्रिय थॉमस श्येफर के बारे में माना जा रहा था कि अगले मुख्यमंत्री वही होंगे. वे जर्मन चांसलर अंगेला मेर्कल की सीडीयू पार्टी से ताल्लुक रखते थे.

जर्मनी में कोरोना वायरस के मामलों का आंकड़ा 52 हजार के पार हो चुका है. इस मामले में वह दुनिया में पांचवें स्थान पर है. वहां कोरोना वायरस से अब तक 389 मौतें हो चुकी हैं.