कोरोना वायरस संकट को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई इस बैठक में उन्होंने कहा कि अगले कुछ हफ्ते तक सारा ध्यान टेस्टिंग (जांच), ट्रेसिंग (संक्रमित लोगों की खोज), आइसोलेशन (उन्हें अलग रखने) और क्वारंटाइन (एक तय समय तक सबसे अलग रहना) करने पर होना चाहिए. नरेंद्र मोदी का यह भी कहना था कि इस दिशा में युद्धस्तर पर काम करने की जरूरत है.

कोरोना वायरस से उपजे हालात को लेकर पिछले दो सप्ताह से कम समय में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की यह दूसरी बातचीत है. ऐसी पहली बातचीत 20 मार्च को हुई थी. आज की बैठक में गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई दूसरे प्रमुख लोग भी मौजूद रहे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि लॉकडाउन समाप्त होने के बाद जनजीवन को धीरे-धीरे सामान्य बनाने के लिये साझी रणनीति तैयार करना महत्वपूर्ण है. देश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पिछले हफ्ते मंगलवार को देशभर में लॉकडाउन की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री ने लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा था.

भारत में कोरोनावायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. ताजा जानकारी के मुताबिक इसकी चपेट में आए लोगों की संख्या 1965 हो गई है. इससे मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 50 पर पहुंच गया है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 328 नए मामले सामने आए हैं और 12 लोगों की मौत हुई है.