चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनिया में फ़ैल चुका है. शुक्रवार को कोरोना वायरस के कुल पीड़ितों की संख्या 11 लाख के करीब पहुंच गई. साथ ही दुनिया भर में अब तक पचास हजार से ज्यादा लोग इसके चलते अपनी जान गंवा चुके हैं. लेकिन इस बीच चौकाने वाली बात यह है कि अभी भी कुछ ऐसे देश हैं, जहां यह महामारी नहीं पहुंच सकी है.

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 सदस्य देशों में से 18 देश अभी तक कोरोना वायरस के प्रकोप से बचे हुए हैं. इन देशों के नाम कोमोरोस, किरिबाती, लेसोथो, मार्शल आइलैंड, माइक्रोनेशिया, नाउरू, उत्तर कोरिया, पलाऊ, समोआ, साओ टोमे और प्रिंसिपे, सोलोमन आइलैंड, दक्षिण सूडान, तजाकिस्तान, टोंगा, तुर्कमेनिस्तान, तुवालु, वानुअतु और यमन हैं.

इन देशों में उत्तर कोरिया एक ऐसा देश है, जहां अन्य देशों के नागरिकों की आवाजाही पर काफी पहले से प्रतिबंध लगा हुआ है. इसके अलावा मध्यपूर्व का देश यमन काफी समय से गृहयुद्ध की मार झेल रहा है जिस वजह से वह भी दुनिया से अलग-थलग ही है.

इन दो देशों के अलावा जो 16 देश कोरोना वायरस से बचे हुए हैं, उनमें से अधिकांश छोटे-छोटे ऐसे आइलैंड हैं, जहां बहुत कम बाहरी लोग ही आते-जाते हैं. इनमें से सात तो यूएन की उस 10 देशों की सूची में भी शामिल हैं, जहां लोग सबसे कम जाना पसंद करते हैं.

दुनिया भर में कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को आईसोलेसन में जाने और लोगों से दूरी बनाकर रहने की सलाह दी जा रही है. देखा जाए तो ये 18 देश ‘सेल्फ आईसोलेसन’ और अन्य देशों के नागरिकों से दूर रहने के चलते ही अब तक कोरोना वायरस के प्रकोप से बचे हुए हैं.