ओडिशा कोरोना वायरस के चलते इन दिनों चल रहे लॉकडाउन को आगे बढ़ाने वाला पहला राज्य हो गया है. राज्य में अब यह लॉकडाउन 30 अप्रैल तक रहेगा. पहले यह 14 अप्रैल को खत्म होना था. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने केंद्र से कहा है कि वह 30 अप्रैल तक राज्य में रेल और हवाई सेवाएं स्थगित रखे.

एक बयान में ओडिशा सरकार ने कहा है, ‘बीती एक सदी में मानव जाति ने कोरोना वायरस जैसा बड़ा संकट नहीं देखा. इसके बाद जीवन कभी पहले जैसा नहीं रहेगा. हम सबको यह बात समझनी चाहिए और हिम्मत से इसका मुकाबला करना चाहिए. हमारे बलिदान और प्रभु जगन्नाथ के आशीर्वाद से यह वक्त भी गुजर जाएगा.’

ओडिशा सरकार ने कहा है कि राज्य में शिक्षण संस्थान 17 जून तक बंद रहेंगे. उसका यह भी कहना है कि खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करना उसकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है. सरकार के मुताबिक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खेती और पशुपालन से जुड़ी गतिविधियां जारी रहेंगी. ऐसा ही आवश्यक सामानों की आवाजाही के मामले में होगा.

ओडिशा में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 42 मामले सामने आए हैं. दो लोगों की मौत भी हुई है. उधर, पूरे देश में पिछले 24 घंटे में इसके संक्रमण के चलते 32 मौतें दर्ज की गई हैं. कोरोना वायरस के 773 नए मामले भी सामने आए हैं. इसके साथ ही देश में इस वायरस से कुल मौतों का आंकड़ा 166 तक पहुंच गया है जबकि 5734 लोग इसकी चपेट में हैं. पूरी दुनिया के लिए यह आंकड़ा करीब 88 हजार और 15 लाख है.

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि कोरोना वायरस संकट के चलते देश में घोषित 21 दिन का लॉकडाउन आगे बढ़ने की संभावना है. उन्होंने यह भी कहा था कि यह चरणबद्ध तरीके से खत्म होगा. उन्होंने ये बातें कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई एक सर्वदलीय बैठक में कहीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वे राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से बात कर इस मसले पर अंतिम निर्णय लेंगे लेकिन, यह संभावना नहीं है कि लॉकडाउन अभी जल्‍दी खत्‍म होगा.