प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर उन्हें लगभग सवा तीन करोड़ से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं, वहीं उनके निजी ट्विटर अकाउंट पर यह आंकड़ा साढ़े पांच करोड़ से ज्यादा का है. लेकिन फिर भी उनके एक फॉलोअर की चर्चा खासा जोर पकड़ रही है और ऐसा होना लाज़िम भी है क्योंकि यह फॉलोअर है द व्हाइट हाउस. शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के एकमात्र ऐसे (गैर-अमेरिकी) नेता बन गए जिसके आधिकारिक और निजी खातों को व्हाइट हाउस फॉलो करता है. पीएम मोदी के अलावा, व्हाइट हाउस द्वारा भारत के राष्ट्रपति के आधिकारिक अकाउंट को भी फॉलो किया गया है.

यहां पर ध्यान खींचने वाली बात यह है कि व्हाइट हाउस ट्विटर पर केवल 19 लोगों को फॉलो करता है जिनमें से छह का संबंध भारत से है. भारत के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के अलावा व्हाइट हाउस ने, अमेरिका में भारतीय एम्बैसी के ट्विटर अकाउंट और भारत में अमेरिकन एम्बैसी और एम्बैसडर केन जस्टर के ट्विटर अकाउंट्स को भी फॉलो किया है.

इन छह अकाउंट्स के अलावा व्हाइट हाउस अमेरिका के कुछ सबसे महत्वपूर्ण लोगों और संस्थाओं को ही फॉलो करता है. यह प्रेसिंडेंट डोनाल्ड ट्रंप और वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के आधिकारिक और निजी अकाउंट्स को फॉलो करता है. इनके साथ-साथ इनकी पत्नियों यानी फ्लोटस (फर्स्ट लेडी ऑफ द यूनाइटेड स्टेट) और सेकंड लेडी के खाते भी इस लिस्ट में शामिल हैं. देश के कुछ सबसे महत्वपूर्ण खाते यानी कैबिनेट, मैनेजमेंट एंड बजट और सुरक्षा काउंसिल भी व्हाइट हाउस की फॉलोइंग लिस्ट में हैं. इनके अलावा, व्हाइट हाउस राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सलाहकार कैलिएन कॉन्वे, प्रेस सेक्रेटरी स्टेफनी ग्रिशम और सहायक डैन स्केविनो के साथ-साथ उपराष्ट्रपति की प्रेस सेक्रेटरी केटी मिलर को भी फॉलो करता है.

व्हाइट हाउस द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्विटर पर फॉलो किया जाना, अपनी टाइमिंग के चलते भी ध्यान खींचता है. हाल ही में, भारत ने मलेरियल ड्रग हाइड्राक्सीक्लोरोक्विन (एचसीक्यू) के निर्यात पर लगी रोक हटाई है. एचसीक्यू को कोरोना वायरस के इलाज में अहम माना जा रहा है और अमेरिका इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है. बीते बुधवार को लगभग तीन करोड़ डोज अमेरिका पहुंचने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्विटर पर नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते हुए लिखा था ‘शुक्रिया मोदी जी, यह मदद हम नहीं भूलेंगे.’

इसके अलावा, यहां पर यह देखना भी दिलचस्प है कि डोनाल्ड ट्रंप और नरेंद्र मोदी दोनों की तरफ से गहरी आपसी दोस्ती के दावे किए जाते रहे हैं. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी तो अमेरिकी राष्ट्रपति के सभी ट्विटर खातों को शुरू से फॉलो करते हैं मगर ट्रंप अपने आधिकारिक और निजी ट्विटर अकाउंट्स से भारतीय प्रधानमंत्री को अभी भी फॉलो नहीं करते हैं. हालांकि डोनाल्ड ट्रंप किसी भी अंतर्राष्ट्रीय नेता को फॉलो नहीं करते हैं. वे अपने निजी ट्विटर अकाउंट से सिर्फ 47 लोगों को फॉलो करते हैं. इनमें से ज्यादातर उनके निजी जानकारों, परिवार के सदस्यों और कारोबार से जुड़े हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट सिर्फ 39 लोगों को फॉलो करता है. इनमें से ज्यादातर विभिन्न अमेरिकी संस्थाओं और विभागों के अकाउंट्स हैं. ऐसे में सिर्फ 19 खास अकाउंट्स को फॉलो करने वाला अकेला व्हाइट हाउस ही भारत से जुड़े छह अकाउंट्स को एक साथ फॉलो करता है तो यह सिर्फ दो लोगों की दोस्ती से कुछ अलग है.