कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए बड़ी मात्रा में राहत सामग्री भेजी है. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने अब तक पांच ट्रक चावल, पांच ट्रक आटा, गेहूं और एक ट्रक दाल के साथ तेल मसाला एवं अन्य खाद्य सामग्री अमेठी भेजी है.

न्यूज एजेंसी के मुताबिक शुक्रवार को अमेठी के कांग्रेस प्रवक्ता अनिल सिंह ने मीडिया को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘अमेठी में कोई भूखा न रहे और हर जरूरतमंद के पास राहत सामग्री पहुंचे, यह सुनिश्चित करने के लिए अमेठी संसदीय क्षेत्र की 877 ग्राम पंचायतों, नगर पंचायतों और नगर पालिकाओं में आज तक राहुल गांधी की तरफ से 16,400 राशन किट वितरित की गयी हैं.’

अनिल सिंह ने आगे कहा कि 12,900 लोगों को मध्याह्न भोजन के पैकेट अभी तक पहुंचाए जा चुके हैं और संकट की इस घड़ी में 50 हजार मास्क, 20 हजार सेनिटाइजर और 20 हजार साबुन भी लोगों को बांटे गए हैं. इस सिंह ने यह भी बताया कि राहुल गांधी के मार्गदर्शन में चल रहे ‘कांग्रेस फाइट्स कोरोना ग्रुप’ के माध्यम से सुदूर प्रदेशों में रह रहे अमेठी संसदीय क्षेत्रवासियों की भी मदद की जा रही है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी केंद्र सरकार को कोरोना वायरस संकट से उबरने के लिए लगातार सुझाव भी दे रहे हैं. बीते गुरूवार को उन्होंने कहा था कि देशव्यापी लॉकडाउन का फैसला किसी पॉज बटन की तरह है जिससे कोरोना वायरस से उपजा संकट हल करने में मदद नहीं मिलेगी. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये मीडिया को संबोधित करते हुए उनका कहना था कि सरकार को टेस्टिंग बढ़ानी चाहिए. राहुल गांधी के मुताबिक इस संकट से निपटने के लिए मोदी सरकार को विकेंद्रीकरण की राह पर चलना चाहिए और मुख्यमंत्रियों व स्थानीय प्रशासन को ज्यादा अधिकार देने चाहिए.