तमिलनाडु सरकार शराब सिर्फ ऑनलाइन बेचे जाने के मद्रास हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. हाई कोर्ट का यह आदेश शुक्रवार को आया था. इसमें कहा गया था कि लॉकडाउन के दौरान खोली गई शराब की दुकानें बंद की जाएं क्योंकि उन पर उमड़ी भीड़ से सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं. तमिलनाडु सरकार ने इस आदेश पर स्टे की मांग की है. मामले की सुनवाई सोमवार को होगी.

इससे पहले कल सुप्रीम कोर्ट ने लॉकडाउन के दौरान शराब की बिक्री शुरू किए जाने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. शीर्ष अदालत ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो, इसके लिए राज्य सरकारों को शराब की होम डिलिवरी पर विचार करना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी शराब की दुकानें खोले जाने के खिलाफ दायर एक याचिका पर की. याचिका में कहा गया था कि इस फैसले से कोरोना वायरस के मद्देनजर जारी सोशल डिस्टेंसिंग के दिशा-निर्देश की धज्जियां उड़ रही हैं. करीब डेढ़ महीने के लॉकडाउन के बाद सरकार ने कुछ ही दिन पहले शराब की दुकानें खोलने की छूट दी थी. लेकिन कई जगह दुकानों पर भारी भीड़ की खबरें आईं. दिल्ली में तो कुछ दुकानों को इसके चलते जल्दी ही बंद करना पड़ा.