वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज फिर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाली हैं. चार बजे होने वाली इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में वे 20 लाख करोड़ रु के आर्थिक पैकेज से जुड़े कुछ और अहम ऐलान कर सकती हैं. कोरोना वायरस के चलते मुश्किलों से जूझती अर्थव्यवस्था के लिए 20 लाख करोड़ रु के इस आर्थिक पैकेज की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी

इससे पहले कल वित्त मंत्री ने करीब छह लाख रुपये के आर्थिक उपायों का ऐलान किया था. निर्मला सीतारमण ने सूक्ष्म, लघु और मध्य क्षेत्र के उद्योगों (एमएसएमई) के लिए तीन लाख करोड़ रु के कर्ज की घोषणा की. यह कर्ज कोलैटरल फ्री होगा यानी इसके लिए किसी गारंटी या कुछ गिरवी रखने की जरूरत नहीं होगी. कर्ज की समयसीमा चार साल की होगी. पहले एक साल में मूलधन चुकाने की बाध्यता नहीं होगी. ये कर्ज 31 अक्तूबर 2020 तक उपलब्ध होंगे. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस कदम का फायदा करीब 45 लाख इकाइयों को होगा.

इसके अलावा आज से 31 मार्च 2021 तक टीडीएस दरों और टीसीएस दरों को मौजूदा दर से 25 फीसदी तक घटा दिया गया है. वित्त मंत्री के मुताबिक इससे आम जनता को 50 हजार करोड़ रु तक का फायदा मिलेगा. आयकर रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख भी 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 नवंबर की जाएगी.