केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजययन ने राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन हटाने की घोषणा की है. अब केरल के सभी हिस्सों में थोड़ी-थोड़ी व्यवसायिक और सामाजिक गतिविधियां शुरु हो सकेंगी. हालांकि रविवार के दिन यह छूट प्रभावी नहीं रहेगी. मुख्यमंत्री ने राज्य में सैलून और ब्यूटी पार्लर दुकानों को भी खोले जाने का इशारा दिया है.

मुख्यमंत्री पिनराई विजययन ने कहा है कि कोरोना की वजह से अब केरल को रेड, ऑरेंज या ग्रीन जैसे अलग-अलग ज़ोन में नहीं बांटा जाएगा. उनके मुताबिक कोविड-19 की रोकथाम के लिए शासन व्यवस्था पहले से ज्यादा सतर्कता बरतेगी और अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की नियुक्ति कर दूसरे राज्यों से आने वालों लोगों पर कड़ी नज़र रखी जाएगी. साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि लॉकडाउन की शर्तों का उल्लंघन करने वालों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाही की जाती रहेगी. अभी तक केरल में लॉकडाउन की पालन न करने पर 65 लोगों पर मुक़दमे दर्ज किए जा चुके हैं.

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री विजयन ने केरल में कोरोना से निपटने के लिए होम क्वारंटीन को अत्यधिक कारगर उपाय बताया. उनका कहना था कि सिर्फ़ इसी के चलते राज्य में कोविड-19 अपने पैर ज्यादा नहीं पसार सका. बकौल मुख्यमंत्री, ‘घरों में क्वारंटीन होने वाले लोगों की निगरानी के लिए हर जिले में पुलिस मोटरसाइकिल ब्रिगेड की स्थापना की जाएगी. मोटरसाइकिल सवार पुलिसकर्मी ऐसे घरों के बाहर लगातार गश्त लगाएंगे. साथ ही समय-समय पर घर के निवासियों से आवश्यक जानकारी भी ली जाती रहेगी.’

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को केरल में 16 नए कोरोना संक्रमित मरीज़ पाए गए थे. इनमे से सात विदेश से केरल पहुंचे थे जबकि छह भारत के ही अन्य राज्यों से. इस तरह केरल में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 576 तक पहुंच गई. इनमे से अभी 80 एक्टिव हैं.